I-CARD HOLDERS UNDER VALIDITY FACILITY

 AICPS I-CARD HOLDERS ALL OVER INDIA

AICPS I-CARD HOLDERS UNDER VALIDITY FACILITY

अखिल भारतीय अपराध निरोधक समिति ई-कार्ड (I-Card) होल्डरों  का स्वागत  करता है 

जनता के दुख , तकलीफ और शिकायत को सरकार के कानों तक पहुँचाने के लिए

All India Crime Prevention Society हर तरह से मदद करेगी I

आपके अपने आई  कार्ड की अवधि (Validity ) के आधीन ही कार्य कर सकते है:-

1.

 

अगर आपके पड़ोस, गली, मोहल्ले या आस पास कोई शक्की आदमी रहता है या कोई शक्की किस्म की कारवाई हो रही है I 
2.

 

अगर आपके पास कोई आदमी सरकारी अफसर या राजनीतिक लोगों का नाम लेकर आपको सरकारी नौकरी, कोटा नाजाइज फायदा लेकर देने का वायदा करके आपसे पैसे ले रहे हैं I 
3.

 

अगर आपके पास कोई विदेश (Foreign) भेजनें का झांसा देकर आपसे पैसे ले रहा  है I
4.

 

अगर आपके साथ कोई सरकारी अफसर नाजाइज़ सलूक कर रहा है I
5.

 

आहार कोई मजहब के नाम पर या ऊंच -नीच , जा -पात या धर्म के नाम पर जनता को बाँटने की कोशिश कर  रहा है  I
6.

 

अगर आपको किसी ऐसे आदमी की नीयत  का पता हो जो देश , कौम या शहर की शांति भंग करने बाला हो  I
7.

 

 

AICPS का कोई Member, Executive President या और कोई संस्था से जुड़ा हुआ आपसे आपका बिगड़ा हुआ काम ठीक कराने के लिए आपसे पैसे बगैरा मांगे  शिकायत Head Office में जरूर करें I
8.

 

 

हमारी संस्था पुलिस की हर कदम पर मदद करने के लिए तैयार रहती है अगर आपके साथ पुलिसकर्मी नाजाइज बदसलूकी करे तो उसकी शिकायत Head Office को करें, ताकि उसकी उच्च पुलिस अधकारियों से शिकायत की जाये  I
  AICPS की मदद करो, उसमें विश्वास करो, पुलिस को मददगार, दोस्त समझो और फिर देखो किस तरह मुजरिम सलाखों के पीछे होगा और जुर्म का खत्म हो जायेगा I

 

HELP POLICE TO HELP SOCIETY, MAKE INDIA CRIME FREE

 

9.

 

यदि आपके आई  कार्ड की अवधि (Validity ) समाप्त हो चुकी है तो आप अपने आई -कार्ड के जरिये कोई भी कारवाही नहीं कर सकते हैं यदि आप कोई कारवाही करते है तो मुख्यकार्यलय आपकी कोई मदद नहीं करेगा तथा मुख्यकार्यलय AICPS आई -कार्ड का गलत इस्तेमाल करने के जुर्म मे आपके ऊपर कार्यवाही की जा सकती है मुख्यकार्यलय की तरफ से आपको हिदायत दी जाती है कि आपके आई-कार्ड की अवधि समाप्त होने के तुरन्त ही उसको मुख्यकार्यलय मैं जमा करवा दें  मुख्यकार्यलय का पता आप हमारी वेबसाइट (Website:-www.aicps.org ) से प्राप्त कर सकते हैंI

 

10.
  
कभी भी किसी मामले पर प्रशासनिक या पुलिस अधकारी से बात करने से पहले AICPS मुख्यकार्यालय चण्डीगढ को अवश्य सूचित करें तथ सम्बन्धित घटना के ठोस सबूत अपने पास इक्टठे कए लें इससे आप अपने पक्ष को सही व मजबूती के साथ पेश कर सकेंI
11.
 
कभी भी किसी अधिकारीया पुलिसकर्मी से असभ्यता से बात न करें इससे AICPS की छवि धूमिल होती है I

 

12.
 
किसी भी घटना की पूरी व निष्पक्ष जाँच करने के बाद ही अंतिम निर्णय पर पहुँचें एकपक्षीय वार्ता आपके केस को कमजोर कर सकती है

 

13.
  
यदि आपको कोई समस्या हो तो आप उस समस्या को लिखित रूप में मुख्यकार्यलय को भेजें आपकी लिखित समस्या के माध्यम से कानूनी सेवाएं प्राधिकरण AICPS Chandigarh से दी जाएंगी I मध्यस्ता,मध्यस्था की सहायता से विवादों को निपटाने की सरल, खर्च रहित निष्पक्ष व् आधुनिक प्रक्रिया है I किसी भी लंभित मामले को किसी एक पक्ष या दोनों की सहमति से सम्बंधित न्यायालय मध्यस्ता के लिए भेजने का निर्णेय लेता है सम्बंधित न्यायालय AICPS स्वयं भी किसी विवाद को मध्यस्ता के लिए भेज सकता है

 

14.
  
DISTRICT /AREA COMMITTEE & BRANCH के साथ नए नए लोगों जैसे आपके दोस्त, आपके रिस्तेदार,समाज सेवकों, शिक्षकों , पत्रकारों को जोड़ें जिससे आप अपनी एक मजवूत टीम तैयार कर सकें, ध्यान रखिये संगठन मैं ही शक्ति है I

 

15.
   
DISTRICT /AREA COMMITTEE & BRANCH स्वयं भी उन कार्यक्रमों को क्रियांवित करें जिससे समाज व देश का भला हो I जैसे -शाखा वार्षिकोत्सव स्थापना दिवस, विविध AICPS प्रशिक्षण शिविर, रक्तदान शिविर, स्वास्थ्य रक्षा शिविर, आई कैम्प, लीगल कैम्प, प्लस पोलियो, एवं साक्षरता अभियान आदि में सक्रिय योगदान दें I

 

16.
  
यदि कोई एसी बड़ी खबर आपको प्राप्त होती है जिसमें राष्ट्र का या समाज का बहुत बड़ा नुक़सान होने की आशंका हो उसकी सूचना आप तत्काल AICPS के मुख्यकार्यालय तथा DISTRICT /AREA COMMITTEE & BRANCH को दें जिससे उस बड़े हादसे को होने से रोक जा सके I जैसे बम विस्फोट या अन्य कोई आंतकवादी गतिविधि आदि I

 

17.
 
आप अपनी DISTRICT /AREA COMMITTEE & BRANCH के सदस्यों को साथ लेकर सिविल डिफेंस कार्यालय में जाकर www.aicps.org की जानकारी दें व उनका सहयोग प्राप्त करें I

 

18.
 
महिलाओं व बच्चों के लिए उनके विकास सम्वन्धी कार्यक्रमों का प्रचार -प्रसार करें Iजिससे आपकी व AICPS की ख्याति होगी I

 

19.
 
अपनी DISTRICT /AREA COMMITTEE & BRANCH में वकीलों को शामिल करें तथा जरूरत मंदों को कानूनी सलाह दिलवाने में अपना योगदान दें I

 

20.

 

कोई भी ऐसा कार्य न करें जिससे AICPS एवं राष्ट्र व समाज के मान -सम्मान को ठेस पहुंचे I
21.
 
AICPS का आई कार्ड का किसी भी गलत कार्यों में प्रयोग न करें, ऐसा करने पर आपके विरुद्ध कानूनी कार्यवाही की जा सकती है I

 

22.
 
यदि आप AICPS के उद्देश्यों की कसौटी पर खरे उतरते हैं तो उसको DISTRICT /AREA COMMITTEE & BRANCH की ओर से सर्वश्रेष्ठ कार्यकर्ता के अवार्ड से सम्मानित किया जायेगा I

 

23.


 

आपके जरिये संगठन को तोड़ने या सदस्यों की दिशा भ्रमित करने जैसे गद्दारीपूर्ण कार्यों के प्रति सख्त कानूनी व अनुशासनात्मक कार्यवाही भी की जा सकती है I
24.


 

 

यदि आपको ऐसा लगता है कि AICPS के प्रति आपकी मेहनत व सेवा को DISTRICT /AREA COMMITTEE & BRANCH के अधिकारी या वरिष्ठ सदस्य नज़र अन्दाज कर रहे हैं तो अपनी समुचित रिपोर्ट मुख्यकार्यालय को गुप्त रूप से भेज सकते हैं ऐसी रिपोर्ट के लिफाफे के ऊपर “अतिगोपनीय” शब्द अवश्य लिखें I
25.


 

किसी भी सदस्य के विरुद्ध कोई कार्यवाही करने के पूर्व आप AICPS के मुख्यकार्यलय चण्डीगढ़ को लिखित जानकारी अवश्य दें I
26.
 
आप स्वयं कानून के दायरे में रहकर कार्य करें व दूसरों से भी कानून का पालन करवायें I

 

27.
 
आप अपने अनुभवों, संस्मरणों से समुख्यकार्यालय चण्डीगढ़ को अवगत कराते रहा करें तथा AICPS के नाम से अन्य समाचार पत्रों में छपी न्यूज़ की कटिंग मुख्यकार्यालय को अवश्य भेजें I

 

28.
 
DISTRICT /AREA COMMITTEE & BRANCH किसी भी कार्यकर्ता / सदस्य से निर्धारित शुल्क से  अधिक धन राशि न लें तथा प्रत्येक सदस्य को उसकी रसीद अवश्य देंI

 

29.
   
कोई भी शुल्क या रकम नगद न लेकर ALL INDIA CRIME PREVENTION SOCIETY CHD. के नाम चैक /बैंक ड्राफ्ट के जरिये ही लें I पंजाब नैशनल बैंक अकाउन्ट नम्बर 3252000100080645 तथा यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया अकाउन्ट नम्बर 556902010000297 में कैश शुल्क जमा करवाकर उसकी रसीद मुख्यकार्यालय चण्डीगढ़ अवश्य भेज दें I

 

30.
 
ध्यान रखें आपके जरिये प्राप्त शुल्क को AICPS कल्याणकारी कार्यों, विकास तथा संगठन के विस्तार मेँ ही व्यय किया जाता है I

 

31. 
  
आप किसी प्रकार की समस्या या जानकारी के लिए मुख्यकार्यालय चण्डीगढ़ को पत्र लिखकर, फ़ोन करके तथा इ-मेल के जरिये सकते हैं, पत्र के साथ जवाबी पोस्ट कार्ड या डाक टिकट लगा स्वयं का पता लिखा लिफाफा अवश्य भेजें I

 

32.
  
आप अपनी गतिविधियाँ Head Office Chandigarh तथा District /Area Committee  & Branch को प्रत्येक माह देते रहें, जिससे आपके व कार्यालय के बीच पारदर्शिता पूर्ण सम्बन्ध कायम रहें I

 

33.
  
मुख्यकार्यालय की अनुमति के बिना आप अपने वाहन पर पुलिस रंग या अपनी व्यक्तिगत नेम प्लेट का प्रयोग न करें आप अपनी निजी जगहों पर AICPS का मोनोग्राम लगा सकते हैं I

 

34.
   
हर महीने District /Area Committee & Branch Office Post को एक नया सदस्य अपने साथ जोड़ना पड़ेगा ताकि संस्था सही ढंग से फलती-फूलती रहे और District /Area Committee & Branch Office तथा Life Member को अनिवार्य होगा की वो सोसाइटी का प्रचार करते रहें ताको लोग इसका ज्यादा फायदा उठा सकें I

 

35.
 
आप AICPS के सामानान्तर किसी संस्था आदि की जिम्मेदारि न लें इससे उनके और AICPS के सम्बन्धों में बाधा पहुंचेगी I

 

36.
 
AICPS से सम्बन्धित लैटर पैड या कोई अन्य स्टेशनरी मुख्यकार्यालय चण्डीगढ़ की अनुमति के बिना न छपवाएं I

 

37.
 
आपकी योग्यता,अनुभव,रूचि, कार्य व मेहनत को देखते हुए ही आपको कोई पद या प्राधिकार दिया जायेगा I

 

38.
 
आप AICPS के अधिक से अधिक सदस्य बनाएं तथा AICPS का प्रचार -प्रसार व विस्तार करें, शाखाएं खुलवाएं, शाखा के उद्घाटन में राष्ट्रीय पदाधिकारियों को सम्मान आमंत्रित करें I

 

39.
 
आप AICPS कार्यालय में बात करते समय अपने उच्चाधिकारियों से अभिवादन के रूप में ‘जय हिन्द’ शब्द का प्रयोग करें और सदैव अनुशासन का पालन करें I

 

40.
 
आपके जरिये राजकीय, प्रशासनिक नियमों और कानून के विरुद्ध किया गया कार्य AICPS मुख्यकार्यालय चण्डीगढ़ बर्दाशत नहीं करेगा न ही इसका समर्थन करेगा I

 

41.
  
आप अपना आई कार्ड अवधि समाप्त के पूर्व ही नवीनीकरण करवा लें व पुराना आई कार्ड मुख्यकार्यालय चण्डीगढ़ में जमा करा कर नया आई कार्ड प्राप्त कर लें I
42.

 

नवीनीकरण हेतू फार्म दुबारा भरने की जरुरत नहीं है I आई कार्ड की अवधि के बाद नवीनीकरण कराने पर लेट फीस देनी होगी I नवीनीकरण शुल्क की जानकारी मुख्यकार्यालय चण्डीगढ़ से प्राप्त कर लें I

 

43.
 
आप एक मिशनरी नागरिक बनकर कार्य करें और याद रखें की AICPS को इस देश में बहुत बड़ी भूमिका अदा करनी है I

 

44.
 
यदि आप AICPS में मेहनत, ईमानदारी से काम नहीं करेंगे तो आपका भविष्य ज्यादा दिनों तक संगठन में सुरक्षित नहीं रहेगा I

 

45.
  
कोई भी सदस्य संगठन से बड़ा नहीं होता है, संगठन की व्यवस्था व अधिकारियों का सम्मान करना प्रत्येक सदस्य का धर्म है लेकिन संगठन के आगे किसी व्यक्ति विशेष को महत्व देने या उसकी हठ धर्मिता स्वीकार नहीं की जाएगी I

 

46.
  
किसी भी सार्वजानिक कार्य में भाग लेते समय आप अपने आई कार्ड को रिवन से बांध कर अपने गले में दाल कर रखें Iपुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों, नेताओं व वरिष्ठ पत्रकारों से साक्षात्कार / शुभकामना संदेश लेकर मुख्यकार्यालय पहुंचाएं I

 

47.
  
धनवान व्यक्तियों को AICPS के उच्चपदों के अन्तर्गत जोड़कर उनका सम्मान करें तथा गरीव, लाचार व कमजोर व्यक्तियों की निशुल्क सेवा/ सहायता करें I

 

48.
  
AICPS के सभी सदस्य मुख्यकार्यालय चण्डीगढ़ के नेतृत्व में संगठित होकर अपने-अपने क्षेत्र में कार्य करें I संगठन में किसी के प्रति कोई मत-भेद न रखें प्रेम पूर्वक साथ मिलकर दुनिया को अपने एकता व शक्ति का परिचय दें एकता में ही शक्ति है I

 

49.
 
सदस्य्ता फार्म साफ -सुथरा व पूरा भरवायें फार्म के साथ निवास, योग्यता,चरित्र प्रमाण पत्र जरूर लगाऐं Iसदस्य बनने वाले व्यक्ति के निवास व चरित्र की गहन पुष्टि अवश्यकरें I

 

{“जय हिन्द जय भारत”}

November 26, 2018 Post Under - Read More

Comments are closed.